इंडिया और बांग्लादेश की मैच के दौरान बुआ की ठुकाई

यह कहानी मेरी और मेरी बुआ की बीच की सच्ची घटना की है,इंडिया और बांग्लादेश की मैच के दौरान बुआ की ठुकाई .यह मेरी पहली कहानी है; सब लोग मैच देखने में ही busy थे ,और क्यों की चैंपियंस ट्राफी का सेमी फाइनल था भारत और बांग्लादेश के खिलाफ .अब मई बुआ के बारे में थोडा बता देती हु. ३५ साल हे, उनके चुचे भी एक दम मस्त हैं और गांड भी बड़ी है; और वह बड़ी ही सेक्सी दिखती है, और मुझे बहुत प्यार करती है; छुट्टियो में काफी दिनों के बाद मैं अपनी बुआ के घर गया था.

वह मुझे पहले से बहुत पसंद थी पर मैंने पहले कभी गंदी नजरों से नहीं देखा था; जैसे ही मैं उनके घर गया तो मुझे देखते ही बहुत खुश हो गई है और मुझे देखते ही गले से लगा लिया; जब उन्होंने मुझे गले लगाया तब उनके बड़े बड़े बूब मुझे मेरे चेस्ट पर फील हो रहे थे.ये स्टोरी अप hindi कमापिसाची में पर रहे है .

एक दिन में उनके यहां टीवी देख रहा था बुआ नहा कर बाहर आई और मुझे बोला जाओ नहा कर आ जाओ; फिर मैं भी नहाने गया और बाथरूम में देखा कि बूआ की इस्तेमाल की हुई ब्रा और पेंटी रखी हुई थी; मेरे मन में क्या आया पता नहीं मैंने पैंटी उठाई और उसे सुंघा उसमें से क्या मस्त खुशबू आ रही थी? उस दिन मैंने पहली बार बुआ को सोचकर मुठ मारी और सोचने लगा कि बुआ को कैसे चोदा जाए? दिन में बुआ जब झाडू मारती तो में उसके बूब्स को घूरता रहता था.

बुआ ने भी एक बार गौर किया फिर पूछा की क्या हुआ? तो मैंने कहा कुछ नहीं और टीवी देखने लगा; फिर मैं बुआ को नहाते हुए देखने की कोशिश करता और उनको छूने की कोशिश करता; एक बार बुआ किचन में खाना बना रही थी तो उन्होंने मुझे आवाज दिया और बोली बेटा, वह डिब्बा उतार दे.

मैं बुआ के पीछे गया और उनसे चिपक गया और डिब्बा उतारने लगा क्योंकि किचन बहुत छोटा सा था और मेरा लंड बुआ की गांड में थोड़ा सा घुस गया और उन्होंने मुझे देखा मैं बिना कुछ बोले वहां से चला गया; एक दिन मेरे फूफा जी का नाइट शिफ्ट चालू हो गया हूं एक हफ्ते के लिए, तो मैंने सोचा यही सही मौका है बुआ को पटाकर चोदने के लिए; अगले दिन फूफाजी नाइट शिफ्ट पर चले गए और बुआ ने बोला आज से तुम मेरे कमरे में सोना.

तो मैंने भी हा कह दिया और रात खाना खाने के बाद हम सोने के गए रात में बुआ नाइटी पहन कर सोती है, रात को बुआ के सोने का इंतजार करने लगा; फिर धीरे धीरे मेने बुआ के बूब्स पर हाथ रखा और दबाने लगा; बुआ ने कुछ रिस्पांस नहीं दिया मैंने अपने हाथ से बुआ की मैक्सी धीरे धीरे ऊपर की लेकिन मुझे डर लग रहा था की वह उठ गई तो क्या होगा? पर मेरे मन में उनको चोदने का ख्याल आ रहा था; मैंने धीरे धीरे उन की चूत पर अपना हाथ रख दिया; उनकी पीठ मेरी तरफ थी; उनकी गांड बहुत बड़ी थी; फिर मैंने शॉर्ट से अपना लंड बाहर निकाला और उनकी पेंटी नीचे कर के गांड से सटा दिया और थोड़ा सा प्रेस किया, इतने में बुआ उठ गई और बोली क्या कर रहे हो यह? मैं बहुत डर गया.

मैंने उनसे कहा बुआ गलती हो गई माफ कर दीजिए, आगे से ऐसा कभी नहीं करंगा; तो उन्होंने कहा नहीं मैं तेरी मम्मी से बोलूंगी; तू मेरे साथ यह सब कर रहा था; फिर मैंने रोना स्टार्ट कर दिया उनसे कहा प्लीज मुझे माफ कर दीजिए आप जो कहेंगी मैं करूंगा; तो उन्होंने कहा सच्ची में करेगा ना? मैंने कहा हां, मैं करुंगा; तो बोली चल ठीक है, फिर उन्होंने कहा आज हम रासलीला करेंगे; मेरे तो होश उड़ गए; फिर उन्होंने अपनी पेंटी उतारी और कहा चल मेरी चूत चाट मैं बहुत दिन से प्यासी हूं.

फिर में उन पर टूट पड़ा और उनकी चूत चाटने लगा; बुआ आह्ह औऊ अह्ह्ह ऐई औऊ और जोर से चाट कुत्ते कहने लगी; मैंने अपनी जीभ पूरी बुआ की चूत में डाल दी और चाटने लगा; वहऔउ अय्य्य यस्स ई ओऊ ओह्ह ईई अस्स यस बोल रही थी.

५ मिनट बाद उस ने मेरा सर अपनी चूत में दबा दिया और वह जड गई, उनके चत का पूरा पानी मैंने पी लिया, वह काफी टेस्टी था; फिर वह उठी और उन्होंने मेरी पेंट खोली और मेरा लंड निकाल कर चूसने लगी; मैं तो सातवे आसमान में था; वह किसी लोलीपोप की तरह मेरा लंड चूस रही थी और कुछ देर बाद मेरा निकल गया उसने सारा पी लिया; में उनके बूब्स मसलने लगा और एक हाथ से उनकी चूत में उंगली डालकर अंदर बाहर कर रहा था; फिर उन्होंने कहा अब बर्दाश्त नहीं होता जल्दी से अंदर डाल दे ना.

मैं उनके बड़े बड़े बूब्स देखती रही, उनके निप्पल बहुत बड़े बड़े थे और मेरे छोटे छोटे थे. मुझे यह कुछ समझ नहीं आया और मैंने बुआ से पूछ लिया. वह बोली मेरी बच्ची से चूसने या चुसवाने पड़ते हैं, तभी इतने बड़े बड़े होते हैं.

अब बुआ ने मेरे बूब्स को अपने हाथों में लिया और दबाने लगी, दबाने तरीका एकदम अलग था और वह मुझसे पूछने लगी कि कैसा लग रहा है मेरी बच्ची?

मैं लंबी लंबी सांस में भरते हुए कहने लगी बहुत ज्यादा अच्छा लग रहा है. मेरे मन तो उसकी इस हरकत से बहुत खुश हुआ और मन ही मन कहने लग गया कि ऐसे ही करते रहे बस करते ही रहे. मेरे मुंह से धीमी धीमी आऊ औउ अय्य्य आवाज निकली है. यह करीब 20 मिनट तक चलता रहा.

अब बुआ ने मुझे अपने गोद में बैठाया और बूब्स को छेड़ते हुए मुझसे पूछने लगी क्या तुमने कभी लटकू भैया को देखा है? मैंने कहा कौन से लटकू भैया? उसने मेरे सामने लेट कर उन की चूत को दिखाते हुए कहा यह है बहन, और लड़के जिससे पेशाब करते हैं वह होते हैं इनके लटकु भैया.

मैं भी उनकी भोसड़ी जैसी चूत को देखकर मचल उठी और उन्हें अपनी पूरी कहानी बताने को कहा. पर उन्होंने मुझसे कहा मैं अपनी कहानी एक शर्त पर ही बताऊंगी. मैंने कहा कौन सी शर्त बुआ? बुआ ने कहा तुम्हे अपने सारे कपड़े उतार कर मेरी गोदी में आकर बैठना पड़ेगा.

मैं उनकी कहानी को सुनने के लिए बेकरार थी इसलिए फटाफट अपने कपड़े उतार कर अपनी बुआ की गोद में आकर बैठ गई. उन्होंने मुझे अपनी बाहों में जकड़ कर अपने हाथों से मेरे दूध मसल मसल के कहने लगी आज तुझे में ऐसी कहानी बताउंगी जिस से तेरी तबीयत दिल से नहीं बल्कि तेरी जांघों से फडफडायेगी.

बुआ की desi गांड ---हिंदी चुदाई स्टोरी
बुआ सो रही है

अब बुआ मेरी चूत पर हाथ मसलते हुए अपनी कहानी की शुरुआत करने लगी और बोली यह बात तब की है जब मैं तेरी उमर की थी. मुझे देख लड़कों के लटकू खड़े हो जाते थे और मुझे सलामी देते थे. मैं उनकी कहानी के बीच में अपने दूध को मसलते हुए बोली, आप तो अब भी कम नहीं हो.

वह मुझे थोड़ा तीखी आवाज में बोली ऐसे कहानी के बीच में बोलकर कहानी का मजा किरकिरा मत कर वरना तेरी चूत में अपना हाथ डालकर कर फाड़ दूंगी.

मैं भी डरते हुए धीमी आवाज में कहा नहीं बूआ ऐसा मत करना. वह अपनी कहानी को आगे बढ़ाते हुए बोली एक छगन तेली था जिसकी उम्र करीब 60 साल की थी. एक बार उस गांव में तेज बारिश के चलते बाढ़ आ गई और उसने मुझे बचाया. जब मेरी आंख खुली तो मैंने अपने सामने छगन को बिल्कुल नंगा देखा और पूछा तुम  ऐसे नंगे क्यों खड़े हो?

तब उसने कहा तुम्हारी जान बचाने की वजह से मेरे कपड़े गीले हो गए. तभी मैंने भी महसूस किया कि मेरे बदन पर कोई कपड़ा नहीं था. मैं बहुत घबरा गई हूं और वहां से भागने की कोशिश करने लगी.

उस बुड्ढे ने मुझे वहीं रोक दिया और बेड पर जोर से पटक दिया और मेरे नंगे शरीर पर टूट पड़ा.

अब वह मेरे बूब्स को जोर से चूसने लगा और अपना हाथ मेरी चूत पर रख कर अपनी एक उंगली मेरी चूत में डाल कर ऊपर नीचे करने लगा. मेरी दर्द के मारे आःह्ह्ह औउ निकलती गई और वह जोर जोर से करता रहा और मेरे दूध को पीने लग गया. थोड़ी देर बाद मुझे भी मजा आने लगा. मैंने भी उसके लंड को हाथ में पकड़कर अपनी चूत की तरफ इशारा किया.

यह इशारा बुढा एकदम समझ गया और अपना लंड पर थूक लगाकर एक ही झटके में मेरी चूत को फाड़ दिया और जोर जोर से ऊपर नीचे करने लगा. मेरे दर्द के मारे जान निकलने लग गई. थोड़ी देर बाद मेरी चूत उसके लंड का मजा लेने लगी, और उसने अपना सारा पानी मेरी चूत में ही निकाल दिया.

बुआ की यह कहानी सुनकर मेरी चूत भी लंड का स्वाद लेने के लिए तड़प गई. मैंने अपनी बुआ को देखते हुए कहा मे लंड को अपनी चूत में लेना चाहती हूं.

उस ने मुझसे कहा आआ मेरी बच्ची आज तुझे बिना लडकों के ३ तरीके बताती हूं जिससे तुझे लंड जीतना ही स्वाद आएगा.  मेरे कहा कौन से ३ तरीके?

उसने कहा सुन पहला तरीका.

मैंने कहा सुनाओ.

अपनी टांगे खोल कर मेरे सामने बैठ जा.

You might like other similar stories:

मैंने ऐसे ही किया और बुआ ने मेरी उंगली अपनी चूत में डलवा दी और कहा जब तक मैं ना रुकु तक तुम ऊपर नीचे करते रहना. मैं अपनी बुआ को कहने लगी वह आप खुद के मजे ले रही हो, मेरा क्या? बुआ ने कहा मेरी बच्ची तेरी बुआ ऐसे नहीं हे की खुद ही मजे ले. ईतना कहते हुए बुआ ने अपनी दो उंगलिया मेरी चूत में डाल कर ऊपर नीचे करने लगी.

ऐसे करने से मुझे बहुत मजा आने लग गया और मेरा अगले ५ मिनट में ही पानी निकल गया और मैं तड़प कर बेहोश सी हो गई, और थोड़ी देर बाद ही बुआ की चूत से भी पानी बरस गया अब हम दोनों नंगे होकर लेटे रहे. बुआ के साथ ऐसा करके मुझे बहुत अच्छा लगा.

अब बुआ ने मुझे दूसरा तरीका बताते हुए कहा तुम अभी बेड पर सीधा लेट जाओ, और मैं भी अब सीधा लेट गई. वह अब मेरे ऊपर आकर अपने भोसड़े जैसी चूत को मेरी छोटी सी चूत पर लगडने लगी. अब मुझे भी उनके रगडने से मजा आ रहा था, मैं भी उनका जवाब दे रही थी. थोड़ी देर बाद बुआ की चूत से पानी बरस गया और मेरी छोटी सी चूत मानो समुंदर में डूब गई.

अब मैंने बुआ को नीचे करते हुए खुद को ऊपर ले लिया और अपनी कश्ती जैसी चूत को समंदर जैसी बड़ी चूत पर लगाना शुरु कर दिया, अब उस ने मुझे तीसरा तरीका बताया.

फिर मैंने भी अपना लंड उनकी चूत पर टिकाया और एक जोरदार धक्का मारा; वह चीख पड़ी, बोली साले धीरे कर; मैं काफी दिनों से नहीं चुदी हूं; फिर मैं धीरे धीरे अंदर बाहर कर रहा था और थोड़ा रुक कर मैंने एक जोरदार धक्का मारा तो पूरा लंड चूत में चला गया; वो बोली की धीरे कर कुत्ते फिर मैं और जोर से धक्के मारने लगा और उनको भी मजा आने लगा; फिर वह आऔउ अह्ह्ह ओह्ह हहह यस्स हहह यस हहह इह्ह औउ इह्ही करने लगी है और अपनी गांड उठा उठा कर लंड लेने लगी, और उन्होंने मुझे कस के पकड़ लिया जड़ गयी पर में धक्का लगाता रहा.

Hot special woman lying in bed

१५ मिनट बाद मेरा निकलने वाला था; मैंने पूछा कहां निकालूं? तो वह बोली मेरी चूत बहुत प्यासी है, अंदर ही निकाल दे; और मैंने अपनी स्पीड तेज कर के अपना माल उनकी चूत में छोड़ दिया और उनके ऊपर ही लेट गया; और कुछ देर बाद हम 69 की पोजीशन में आ गए और मैं उनकी चूत चाट रहा था और अचानक उठ कर वो जाने लगी; तो मैंने पूछा क्या हुआ?? तो बुआ बोली की पेशाब लगी है, तो मेने बोला यही कर लो तो उन्होंने बोला क्या? में बोला हा रही कर लो और मुंह खोलकर बैठ गया; उन्होंने मेरे मुंह पर पेशाब किया और मैं पी गया; उन्होंने भी मेरा पेशाब पिया; उस रात हमने ३ बार सेक्स किया और एक हफ्ते तक पहर रात हमारी रासलीला चली; फिर वहां से अपने घर वापस आ गया.

लड़की ओ के फ्री नंबर और whatsapp नंबर के लिए कांटेक्ट करे :

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: